प्रोजेक्ट ‘‘लाईफ मनरेगा ‘‘ के तहत कौशल उन्नयन से जुडेंगे जॉबकार्ड धारी

ग्रामीण क्षेत्रो मे निवास करने वाले ऐसे अकुशल जॉब कार्डधारी श्रमिक जिन्होने गत वित्तीय वर्ष मे 100 दिवस के मजदूरी का कार्य किया है, उनके परिवारो के जीवन स्तर का उन्नयन करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग भारत सरकार द्वारा प्रोजेक्ट लाईफ- मनरेगा के माध्यम से कार्य योजना बनाकर कार्य किये जाने के निर्देश जारी किये है।
ग्राम पंचायतो मे पदस्थ ग्राम रोजगार सहायको के माध्यम से प्रत्येक ग्राम पंचायत में जून माह में ऐसे अकुशल श्रमिको का सर्वे किया जावेगा जिन्होने 100 दिवस मजदूरी का कार्य किया है। सर्वे के बाद चिन्हित ऐसे जॉब कार्डधारियो को मनरेगा साफ्ट में प्रविष्टिया करायी जावेगी। जिसके बाद राज्य राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन तथा दीनदयाल उपाध्याय, ग्रामीण कौशल योजना तथा आरसेटी के माध्यम से कार्ययोजना तैयार कर श्रमिको को कुशल कार्यकर्ता के रूप मे प्रशिक्षित किया जावेगा। प्रोजेक्ट लाईफ - मनरेगा का उद्देश्य अकुशल श्रमिको को कुशल श्रमिक बनाकर स्थाई आजीविका उपलब्ध कराने के लिए प्रशिक्षित करना है। ग्राम पंचायतो मे किये जाने वाले सर्वे कार्य के लिए समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायतों को समय सीमा में सर्वे कर जानकारी मनरेगा पोर्टल मे दर्ज करने के लिए निर्देश जारी किये गये है।

0 comments:

Post a comment