मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में विधवा विवाह भी होंगे

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विधवा विवाह को प्रोत्साहन देने के लिये मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में विधवा विवाह को भी शामिल किया जाएगा। इसके लिए 2 लाख  रुपए स्वीकृत किए जाएंगे। उन्होंने महिलाओं के विरुद्ध हिंसा को रोकने के लिए प्रत्येक जिले में उषा किरण केंद्र खोलने की घोषणा की। श्री चौहान स्थानीय रविन्द्र भवन में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर भव्य 'शक्ति का उत्सव'' को संबोधित कर रहे थे। श्री चौहान ने महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि जल्दी ही महिलाओं के स्व-सहायता समूह का सम्मेलन बुलाया जाएगा। बेटियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाओं की संभावना रोकने के लिये उन्होंने कहा कि स्कूलों, कॉलेजों में शिकायत पेटी रखने की व्यवस्था की जायेगी। बेटियों की शिकायत को बाल अधिकार संरक्षण आयोग और अन्य सक्षम संस्था के सामने खोला जाएगा और उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। श्री चौहान ने तेजस्विनी और शौर्या दल के सदस्यों को ड्राइविंग सिखाने की व्यवस्था करने की भी घोषणा की। स्कूल, कॉलेजों में बेटियों को आत्म-रक्षा की ट्रेनिंग देने की व्यवस्था भी की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटी बचाओ को समाज का आंदोलन बनाना होगा। उन्होंने नागरिकों से आग्रह किया कि सामाजिक कार्यक्रमों में बेटी बचाओ के संदेश का प्रसार करें। शादी के निमंत्रण पत्र में बेटी बचाओ का संदेश प्रकाशित करें। उन्होंने कहा कि नारी अबला नहीं सिद्धा है। श्री चौहान ने कहा कि बेटियाँ किसी से कम नहीं। यदि उन्हें थोड़ा सहयोग मिल जाये तो वे आसमान छू सकती हैं। श्री चौहान ने ग्वालियर की छह वर्षीय बेटी आणवी रावत की गणेश वंदना प्रस्तुति से प्रभावित होकर उसे 25 हजार रूपये का नगद इनाम देने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने श्री विष्णु कुमार सम्मान पुरस्कार 2015 राजगढ़ के श्री जमुना लाल बैरागी को प्रदान किया। मुख्यमंत्री नारी सम्मान रक्षा पुरस्कार सिवनी की सुश्री अनिता राम को दिया गया। मुख्यमंत्री ने लाडो अभियान और शौर्या दल के सदस्यों को भी सम्मानित किया। देवास की जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्रीमती नीलम सूद को लाडो अभियान में उत्कृष्ट कार्य के लिये सम्मानित किया गया। महिला -बाल विकास विभाग की योजनाओं को संभाग स्तर पर प्रभावी रूप से अमल में लाने के लिये उज्जैन, जबलपुर, इंदौर एवं ग्वालियर संभाग को वर्ष 2015 के लिये पुरस्कृत किया गया। इसी प्रकार मंदसौर, धार, शिवपुरी, विदिशा, शाजापुर, सीधी, छिंदवाड़ा, कटनी, बैतूल, अनूपपुर, रीवा जिले को पुरस्कृत किया गया।

0 comments:

Post a comment